जानिए कौन है ये महिला पोलिंग अफसर, जिसे ढूंढ रही है पूरी दुनिया

लोकतंत्र का महापर्व लोकसभा चुनाव का खुमार नेताओं के साथ-साथ कार्यकर्ताओं के सिर चढ़कर बोल रहा है। नेताओं की फिसलती जुबान की खबरों के साथ एक पीली साड़ी वाली महिला की तस्वीर काफी ज्यादा वायरल हो रही है और पूरी दुनिया उस महिला की सच्चाई के बारे में काफी ज्यादा उत्सुक भी दिख रही है। सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा कि इस महिला अधिकारी के पोलिंग बूथ पर 100फिसदी मदान भी हुए थे।

गौरतलब हो कि फेसबुक में पीली साड़ी वाली महिला की तस्वीर शेयर करने के साथ ये कहा जा रहा है कि, इनका नाम नलिनी सिंह है और ये मिसेज जयपुर भी रह चुकी हैं। जानकारी ये भी दी जा रही है कि इनकी तैनाती ईएसआई के निकट कुमावत स्कूल में थी। इतना ही नहीं पोस्ट में ये भी दावा किया जा रहा है कि, जहां इनकी पोस्टिंग थी वहां 100 फिसदी मतदान हुआ था। जब महिला की तस्वीर फेसबुक पर शेयर किया तो लाखों लोगों ने इसे देखा और बहुत सारे लोगों ने इसे शेयर किया। साथ ही मामला फेसबुक से आगे बढ़कर व्हाट्सऐप तक पहुंच गया वो भी कई सारे दावे के साथ। लेकिन जब इस तस्वीर के बारे में जानकारी जुटाई गई तो पता चला कि, इस महिला का नाम नलिनी सिंह नहीं हैं और ना तो ये तस्वीर जयपुर की है।

 

पड़ताल के बाद पता चला कि ये तस्वीर जयपुर की नहीं बल्कि लखनऊ की है और इसे एक फोटो जर्नलिस्ट ने लिया था। ईवीएम मशिने ले जा रही इस महिला का नाम रीना द्विवेदी है और ये लखनऊ के पीडब्ल्यूडी विभाग में कनिष्ठ सहायक के विभाग में कार्यरत है। जो तस्वीर वायरल हो रही है वो 5 मई 2019 की है यानी की चुनाव से एक दिन पहले की। 5 मई को रीना लखनऊ के नागराम के बूथ नंबर 173 पर मतदान की तैयारियों का जायजा लेने पहुंची थी।

ये भी पढ़ें- गिरिराज सिंह के निशाने पर कमल हासन समेत ये बॉलीवुड स्टार, बोला बड़ा हमला

इस बाबत जब रीना से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि, ‘हमारा नाम नॉमिनेट हुआ था मतदान कराने के लिए और इसलिए हम ईवीएम लेकर जा रहे थे। तभी किसी पत्रकार ने हमारी तस्वीर ले ली और देखते ही देखते वो वायरल हो गई। अब तो राह चलते कोई देख ले तो सेल्फी लेगे लग जाते हैं’। रीना की तस्वीर के साथ ये भी कहा जा रहा है कि, वो जहां पोलिंग अफसर तैनात थी वहां 100 फिसदी मतदान हुए थे लेकिन रीना ने बताया कि, ये सच नहीं है बल्कि 70 फिसदी मतदान हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *