सीएम नीतीश कुमार ने राजद सुप्रीमो लालू यादव पर हमला बोला औऱ बड़ा बयान दे  डाला। जदयू अध्यक्ष और सीएम नीतीश कुमार पटना साहिब से बीजेपी के लोकसभा कैंडिडेट रविशंकर प्रसाद के लिए वोट मांगने एक जनसभा में पहुंचे हुए थे। इसी दौरान नीतीश कुमार ने लालू यादव को लेकर बड़ा बयान दिया और कहा कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का परिवार हम पर आरोप लगा रहा है कि हमने उन्हें फंसा दिया।

इतना ही नहीं सीएम नीतीश कुमार ने आगे यह भी कहा कि मैं स्‍पष्‍ट करना चाहता हूं कि उन्हें कानून ने सजा दी है। नीतीश कुमार ने दो टूक कहा कि अब लालू यादव जेल से बाहर नहीं निकलने वाले चाहे कुछ भी कर लें। अब लालू यादव इस ताक में हैं कि बाहर आकर एक बार फिर से सत्ता पर कब्जा कर लें तो यह होने वाला नहीं है।

उन्होंने कहा कि 15 साल तक लालू ने बिहार पर राज किया और खुद जेल गए तो पत्नी को मुख्यमंत्री बना दिया। बिहार में क़ानून का राज था और रहेगा इससे कोई समझौता नहीं होगा। जब हम केंद्र में मंत्री थे, तब बिहार में सड़क का क्या हाल था? मुझे अपने संसदीय क्षेत्र में काफी पैदल चलना पड़ता था। आज पैदल नहीं चलना पड़ता है, क्योंकि हर तरफ़ सड़क बन गई है।

ये भी पढ़ें-पिता के चुनाव प्रचार के लिए इन कारणों से पटना नहीं पहुंचीं ‘दबंग गर्ल’ सोनाक्षी

सीएम नीतीश ने कहा कि पटना साहिब उनका क्षेत्र रहा है। वह तो अपने क्षेत्र में ही आए हैं।  फिर उन्होंने अपील करते हुए कहा कि आप लोग जिस तरह मुझे अपना प्यार दिया वैसा ही रवि शंकर जी को भी दें।

आपको बता दें कि लालू यदाव चारा घोटेले में दोषी करार दिए जा चुके हैं और रांची जेल में बंद हैं। लिहाजा राजद सुप्रीमो लालू यादव इस बार 17 लोकसभा चुनाव में गैरमौजूद है। हालांकि, लालू यदाव के परिवार ने समय-समय पर बिहार सराकर पर आरोप लगाया है कि नीतीश कुमार ही उन्होंने जेल से बाहर नहीं आने दे रहे हैं। राबड़ी देवी ने तो यहां तक आरोप लगाया कि बिहार सरकार लालू को जेल में जान से मरवाना चाहती है। वहीं, तेजस्वी भी लगभग हर सभओं में अपने पिता को बाहर निकालने और साजिश से फंसाने की बातें कहना नहीं भुलते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *